महान अक्टूबर सोवियत समाजवादी क्रांति दिवस ७ नवंबर ज़िंदाबाद।

महा महिम कामरेड लेनिन और स्टालिन के नेतृत्व में संचालित महान अक्टूबर सोवियत समाजवादी क्रांति दिवस ७ नवंबर ज़िंदाबाद।
lenin-stalin

इस महान दिवस पर श्रद्धेय नेता कामरेड चारु मजूमदार के हाथो बनी  सीपीआई (एम – एल) के और से हम वर्तमान स्तिथि पर अंतरतम के नेता श्रदेय कामरेड महादेब मुख़र्जी द्वारा १९९३ में दी गयी इस राजनैतिक कार्यनीति को सांप्रदायिक फासिस्टवादी भाजपा और बाकी संघी शक्तियों द्वारा भारत के मेहनती जनता में फुट डालने की प्रयास के खिलाफ और साम्राज्यवाद – सामंतवाद के खिलाफ मुहीम को शक्तिशाली करने के लिए पेश कर रहें हैं।

” भारत आज एक ऐसी स्थिति पर हैं, भाजपा के खिलाफ, सांप्रदायिक शक्तियों के खिलाफ संयुक्त संघर्ष को पुकार रही हैं।  इसलिये कंधे से कंधा मिलाकर, सुर में सुर मिलाकर, हाथ में हाथ डालकर भारतवर्ष को रक्षा करने की, मज़दूर – किसान एकता को रक्षा करने की, साम्राज्यवादी शक्तियों के खिलाफ लड़ाई करने की चाहत लेकर आज भारतवर्ष की जनता को कुंदना होगा। इसलिये चलो, आज इस संधि-स्थल में खड़े हो कर आप जिस किसी राह में चलने वाले हो, हम संयुक्त हो कर संघर्ष करें।  लेकिन अगर आप मार्क्सवाद – लेनिनवाद मानते हैं, अगर लाल झंडा मानते हैं तब ही संयुक्त होंगे, नही तो नही होंगे। यह शर्त हैं।  आदर्श का मतभेद रह सकता हैं, लेकिन जिन के हाथो में लाल झंडा हैं, जो लोग कम से कम मज़दूर किसानो की बात करते हैं, मज़दूर किसानो के हित में संघर्ष करते हैं, वह कोई भी उद्देश्य में क्यों न हो, अगर वह संघर्ष करते हैं तो हम उनके साथ हैं, रहेंगे और थे भी। ” (०७/०२/१९९३)

———————–

 

Long Live The Great October Soviet Revolution Day 7th November.

Long live the great October Soviet Socialist Revolution of 7th November led by great Comrades Lenin and Stalin.

On this auspicious day we on behalf of the CPI (M-L) personally built by respected leader Comrade Charu Mazumdar are presenting the below quoted lines from leader of heart respected Comrade Mahadev Mukherjee as the tactics against the communal fascist BJP led saffron brigades attempt to disrupt the unity among the working people of India and in our struggle against imperialism and feudalism.

 

“At present, India is in such a situation, that it is calling for united struggle against BJP, against the communal powers. Therefore the people of India must plunge by joining shoulders, hands and hymn with the urge to protect India, to protect the unity of the workers and peasants, to struggle against imperialist powers. Therefore, come on, leave alone which path do you belong to, at this juncture let us wage an united struggle. However, we will only unite if you abide Marxism-Leninism, abide the crimson banner, else there cannot be any unity. This condition will remain. We may have difference over ideology, however those who holds the crimson banner, those who atleast pay lip service to the cause of the workers-peasants, those who wage struggle for the cause of the workers and peasants, that may be for any reason, if they wage a struggle we are, we will remain with them as we have always stood.”  (07/02/1993)

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s